Follow Raagdesh

twitter google_plus linkedin facebook mail

Raag Desh – Editorial Policy – Disclaimer

The thoughts expressed in this blog ‘Raag Desh’ are of personal views of the author of the Columnist QW Naqvi, guided by Key principles laid down in the “Raag Desh Mission Statement.” The author QW Naqvi aka Qamar Waheed Naqvi takes extra care to present all facts correctly according to best of his knowledge and within limitations in which he gathers them from various sources. Author QW Naqvi tries his best to check and cross-check information received from various sources such as TV News Channels, Newspapers, News Agencies and Journalists, however at times there maybe some “misreporting” or “misunderstanding” on part of these sources and in such cases he can’t take responsibility for any such “unfortunate” event of “misreporting,” “misunderstanding” or “misjudging” by these sources.

Raag Desh is not connected or linked to any political party or organization and its author QW Naqvi expresses its views freely and independently and draws his conclusions on the basis of his own analysis of news events, and with his vast experience of reporting news and current affairs from almost entire length and breadth of the country. As a working Journalists for more than 35 years in Print and TV Journalism, QW Naqvi, the author of this blog has keenly watched, observed and has an exceptionally outstanding track record of correctly anticipating and analyzing the complexities of Indian socio-economical-political set-up.

‘Raag Desh’ doesn’t follow any agenda of any character assassination, personal attack or defamatory propaganda against anybody and raise only such issues which are in “Public Interest” or which need to be brought into public notice for the sake of public interest or which already in the public discourse.

Raag Desh strives to work hard for journalistic ethics and standards. Raag Desh will accept all Legitimate Ads and “Sponsored Content” (clearly marked and displayed as Sponsored/ Advertisement/ Promoted or in similar other terms) but vows that it will never compromise its editorial values whatsoever the case maybe. Raag Desh is staunch opponent of any “Paid News” in cash, kind or in any form in the garb of ‘editorial content’ or ‘review’ etc.

प्रत्याख्यान

इस ब्लाॅग ‘राग देश’ के लेखों में व्यक्त किये गये विचार ‘राग देश’ के स्तम्भकार क़मर वहीद नक़वी के निजी विचार  हैं, जो इस ब्लाॅग के ‘मिशन वक्तव्य’ में दिये गये बुनियादी सिद्धाँतों पर आधारित हैं. ‘राग देश’ के स्तम्भकार क़मर वहीद नक़वी इस बारे में अतिरिक्त सावधानी बरतते हैं कि सभी तथ्य उनकी सर्वोत्तम जानकारी और विभिन्न सूत्रों से उन तथ्यों को प्राप्त करने की उनकी सीमाओं को देखते हुए जहाँ तक सम्भव हों, सही-सही प्रस्तुत किये जायें. ‘राग देश’ के स्तम्भकार क़मर वहीद नक़वी अपनी ओर से पूरी कोशिश करते हैं कि विभिन्न सूत्रों जैसे टीवी न्यूज़ चैनलों, समाचारपत्रों, समाचार एजेन्सियों के ट्वीट या पत्रकारों से मिली हर जानकारी की जाँच और दुबारा जाँच की जाये, फिर भी कभी ऐसा हो सकता है कि किन्हीं तथ्यों को लेकर इन सूत्रों द्वारा ‘ग़लत रिपोर्टिंग’ या ‘समझने में भूल’ हो जाये तो ऐसी स्थिति में इन सूत्रों द्वारा किसी प्रकार की ‘ग़लत रिपोर्टिंग’, ‘समझने की भूल’ या ‘निर्णय की भूल’ की किसी ‘दुर्भाग्यपूर्ण स्थिति’ के लिए ‘राग देश’ के स्तम्भकार क़मर वहीद नक़वी ज़िम्मेदारी नहीं ले सकते.

‘राग देश’ का किसी राजनीतिक दल या संगठन से जुड़ाव या सम्बन्ध नहीं है और इसके लेखक क़मर वहीद नक़वी अपने विचारों को मुक्त व स्वतंत्र रूप से व्यक्त करते हैं और लगभग पूरे देश से समाचारों व समसामियक विषयों की रिपोर्टिंग के सुदीर्घ अनुभव के आधार पर वह घटनाओं के अपने विश्लेषण से अपने निष्कर्ष निकलते हैं. प्रिंट और टीवी पत्रकारिता में 35 वर्षों के अपने लम्बे करियर में इस ब्लाॅग ‘राग देश’के लेखक क़मर वहीद नक़वी ने देश के जटिल सामाजिक-आर्थिक-राजनीतिक ढाँचे को नज़दीक से जाना-समझा है और उसके आधार पर स्थितियों के पूर्वानुमान और सटीक विश्लेषण का उनका ‘ट्रैक रिकार्ड’ ख़ासकर उल्लेखनीय रहा है.

‘राग देश’ किसी प्रकार के चरित्रहनन, व्यक्तिगत अपमान, किसी की निजी मानहानि आदि के किसी एजेंडे पर नहीं चलता और केवल उन्हीं विषयों को उठाता है, जो ‘जनहित’ से जुड़े हैं, जिन्हें जनहित में जनता के सामने लाया जाना ज़रूरी हो या जिन पर समाज में विमर्श चल रहा हो.

‘राग देश’ पत्रकारिता के मूल्यों और मानकों के लिए सदैव संघर्षरत है. ‘राग देश’ हर वैध विज्ञापन और ‘स्पॉन्सर्ड कंटेंट’ (जिसे स्पष्ट तौर पर Sponsored/ Advertisement/ Promoted या ऐसे ही उचित शब्दों में चिह्नित और दर्शाया जाएगा) को स्वीकार करेगा लेकिन वह इस बात के लिए संकल्पबद्ध है कि किसी भी हाल में वह सम्पादकीय मूल्यों से कोई समझौता नहीं करेगा. ‘राग देश’ किसी भी रूप में, नक़द या किसी अन्य रूप में किसी भी प्रकार की ‘पेड न्यूज़’ का कड़ा विरोधी है, जिसे ‘सम्पादकीय सामग्री’ या ‘समीक्षा’ आदि की शक्ल में प्रस्तुत किया जाए .

PLEASE NOTE
Hindi translation given here is only indicative and for the purpose of explaining the basic intent of the above stated policy to Hindi audience and it may or may not fully or exactly express the content of English version.
Therefore, the English version will be considered FINAL for all purposes.

ऊपर दी गयी नीति का हिन्दी अनुवाद यहाँ केवल हिन्दी पाठकों को सांकेतिक रूप से नीति का बुनियादी मंतव्य बताने के उद्देश्य से दिया गया है और ज़रूरी नहीं कि हिन्दी अनुवाद मूल अंगरेज़ी पाठ को पूरा-पूरा और सही-सही ही प्रस्तुत करता हो.
इसलिए मूल अंगरेज़ी पाठ ही किसी भी व्याख्या के लिए अन्तिम माना जायेगा.